2020 में जानें क्या है मंगल ग्रह पे NASA का अगला मिशन Mars 2020 | Technology

दोस्तों, NASA (National Aeronautics and Space Administration) मंगल पे Spirit and Opportunity, Sojourner, और Curiosity जैसे rover (रोवर) भेजने के बाद इस साल 2020 में अपने नए रोवर Perseverance को लांच करने की तैयारी में है, और इस मिशन को Mars 2020 का नाम दिया गया है. Perseverance का हिंदी अर्थ दृढ़ता या अटलता होता है. इस मिशन की लागत लगभग 2.4 बिलियन डॉलर है. 

रोवर क्या होता है? 

रोवर एक ऐसा यन्त्र/वाहन है जो दूसरे ग्रहों या खगोलीय पिंडों के ठोस सतहों पे चलने या घूमने-फिरने में सक्षम होता है, इसका इस्तेमाल स्पेस एजेंसियों के द्वारा दूसरे ग्रहों की सतहों के अध्यन के लिए किया जाता है. इसे बनाने में मुख्यतः रोबोटिक्स के सिद्धांतों का इस्तेमाल होता है.

मिशन Mars 2020

इस मिशन का उद्देश्य मंगल पे प्राचीन जीवन के संकेतों की तलाश करना और मंगल पे मौजूद चट्टान और मिट्टी के नमूने एकत्र कर पृथ्वी पर वापस आगे के अध्यन के लिए लाना है. पहले इस रोवर को 20 जुलाई 2020 को लांच करने की तैयारी थी, पर अब इसकी निर्धारित तिथि 30 जुलाई से 15 अगस्त 2020 के बिच की कर दी गयी है. इसे  Florida के Cape Canaveral Air Force Station से लांच किया जायेगा और जो लगभग 6-7 महीनों का सफर तय करके 18 फ़रवरी 2021 को मंगल ग्रह के Jezero Crater की सतह पे लैंड करेगा। और वहां पे लगभग एक मंगल वर्ष (जो पृथ्वी के 687 दिनों के बराबर होता है) तक मंगल के सतहों का अध्यन करेगा. 

Perseverance रोवर का आकार

Perseverance का वजन लगभग 1,025 किलोग्राम (2,260 पौंड) के बराबर है और ये NASA के पिछले रोवर Curiosity (जो अभी भी मंगल ग्रह पे मौजूद है) से 126 किलोग्राम (278 पौंड)  ज्यादा वजन का है. ये लगभग 7 फ़ीट ऊँचा,  9 फ़ीट चौड़ा, और लगभग 10 फ़ीट (बिना अपने आर्म्स के) लम्बा है ।

 

Indicative Image of Rover


Perseverance रोवर में इस्तेमाल किये गए हार्डवेयर्स 

NASA के द्वारा Perseverance रोवर में मुख्यतः सात प्रकार के हार्डवेयर्स का इस्तेमाल किया गया है, जिसे ये रोवर अपने साथ ले जाएगा और जो इस रोवर को मंगल के सतहों का अध्यन करने में इसकी मदद करेंगे। 

  • Mastcam-Z: यह मल्टीस्पेक्ट्रल स्टीरियोस्कोपिक इमेजिंग (Camera) उपकरण है और जो मंगल ग्रह पे मौजूद खनिजों के अध्यन में Perseverance की मदद करेगा और Perseverance की दिशा निर्धारण (Navigation) में भी इसकी मदद करेगा। 
  • SuperCam: यह एक रिमोट सेंसिंग उपकरण (Camera) है जो लेज़र स्पेक्ट्रोस्कोपी और रिमोट ऑप्टिकल मेज़रमेंट जैस टेक्नोलॉजी की मदद से मंगल ग्रह पे मौजूद सूक्ष्म स्तर के खनिज, परमाणु और आणविक रचना, और  रसायन का अध्यन करने में रोवर के लिए मददगार होगा।  
  • Radar imager for Mars' subsurface experiment (RIMFAX): यह भी Perseverance का एक महत्वपूर्ण पार्ट है जो रडार तरंगों की मदद से मंगल ग्रह के सतह के निचे की भूगर्भिक स्थिति के अध्यन में रोवर की मदद करेगा।  
  • Mars Environmental Dynamics Analyzer (MEDA): यह एक ऐसा उपकरण है जो मंगल ग्रह के वातावरण में मौजूद धूल कण की विशेषताओं, वहां के तापमान, आद्रता, और हवा के स्पीड और दिशा को मापने में रोवर की मदद करेगा । 
  • The Mars Oxygen In Situ Resource Utilization Experiment (MOXIE): यह एक ऐसा उपकरण है जो मंगल ग्रह के वातावरण में मौजूद कार्बन-डाई -ऑक्साइड से प्रति घंटे 10 ग्राम ऑक्सीजन को उत्पन्न करेगा। यह इस मिशन का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है और अगर ये ऐसा करने में सफल हो जाता है तो भविष्य में इस टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल मानव अंतरिक्ष यात्रियों के लिए किया जायेगा. 
  • Scanning Habitable Environments with Raman and Luminescence for Organics and Chemicals (SHERLOC): यह उपकरण लेज़र, कैमरा, और स्पेक्ट्रोमीटर की मदद से मंगल पे मौजूद खनिज और कार्बनिक यौगिकों को मापने और वहां मौजूद सूक्ष्मजीवों के पूर्व जीवन के बारे में पता करने में मददगार साबित होता है.  
  • Planetary Instrument for X-ray Lithochemistry (PIXL): यह उपकरण X-ray स्पेक्ट्रोमीटर की मदद से मंगल के सतह पे मौजूद मिट्टी और चट्टानों के रासायनिक तत्वों का बहुत ही सूक्ष्म स्तर पे अध्यन करता है, इसमें मौजूद कैमरे के द्वारा मिट्टी और चट्टानों की उच्च गुणवत्ता की छवि भी ली जा सकती है. 
दोस्तों उम्मीद करता हूँ की ये जानकारी आपको पसंद आयी होगी, और भी नयी नयी जानकारी और मोटिवेशनल कहानी के लिए हमारा फेसबुक पेज Rehisvention जरूर like करें, आप हमें  Twitter handle @VentionRe पे भी follow कर सकते हैं।

धन्यवाद्  
   

Post a Comment

0 Comments