2021 में लांच होने वाला है दुनिया का सबसे बड़ा टेलिस्कोप Webb

दोस्तों, साल 2021 दुनिया भर के खगोल वैज्ञानिकों के लिए नयी क्रांति लाने वाला साल शाबित होगा क्यूंकि इस साल NASA, European Space Agency, और Canadian Space Agency के आपसी सहयोग से दुनिया के सबसे बड़े और शक्तिशाली स्पेस टेलिस्कोप James Webb Space Telescope (JWST or Webb) का प्रक्षेपण होने वाला है, जिसे NASA के Goddard Space Flight Center में विकसित किया जा रहा है। Webb अंतरिक्ष में मौजूद अब तक का सबसे शक्तिशाली और उन्नत टेलिस्कोप होगा, और यह ब्रह्माण्ड के प्रति हमारी समझ में बहुत बदलाव लाएगा। 

Webb 21.3 feet (6.5 मीटर) के व्यास वाली प्राइमरी दर्पण से लैश एक बड़ा इंफ्रारेड टेलिस्कोप है, जिसे French Guiana से Ariane-5 राकेट की मदद से इस साल अंतरिक्ष में लांच किया जाएगा। 

Webb टेलिस्कोप का मुख्य उद्देश्य अंतरिक्ष में  Hubble टेलिस्कोप, जिसका प्रक्षेपण 1990 में किया गया था, की खोज को पूरा करना और उसके आगे का अध्यन करना होगा। यह वर्तमान में अंतरिक्ष में मौजूद Hubble टेलिस्कोप से 100 गुणा ज्यादा शक्तिशाली टेलिस्कोप होगा। 

 

Webb Telescope
Source: https://jwst.nasa.gov

पहले इस टेलिस्कोप को Next Generation Space Telescope (NGST) के नाम से जाना जाता था, पर साल 2002 में इसका नामकरण नासा के पूर्व अधिकारी James Webb के नाम पर रखा गया। इसके प्राइमरी मिरर को 18 भागों में खंडित कर बनाया गया है, जिससे लांच के बाद आसानी से अनफोल्ड/फोल्ड और उसके आकार में परिवर्तन किया जा सके। इसके प्राइमरी मिरर को बहुत ही हल्के वजन के बेरिलियम से बनाया गया है। 

इस टेलिस्कोप में लगे कैमरा और स्पेक्ट्रोमीटर के शक्तिशाली डिटेक्टर में कमज़ोर से कमज़ोर सिग्नल को रिकॉर्ड करने की क्षमता है। इसमें लगे एक उपकरण NIRSpec के प्रोग्रामेबल microshutter में एक साथ 100 वस्तुओँ के अवलोकन करने की क्षमता है। इसके mid-infrared डिटेक्टर्स को ठंडा रखने के लिए इसमें cryocooler का इस्तेमाल किया गया है। Webb धरती से 13 बिलियन प्रकाशवर्ष दूर तक की गैलेक्सियों का अध्ययन करेगा 

मुख्य तथ्य

  • Webb टेलिस्कोप को इस साल 2021 में लांच करने का प्लान है। 
  • इस टेलिस्कोप के मिशन की अवधि 5 - 10 साल की होगी। 
  • इसे Ariane 5 ECE नामक राकेट से लांच किया जाएगा। 
  • इस टेलिस्कोप का वजन लगभग 6,200 किलोग्राम होगा। 
  • इसके प्राइमरी मिरर का व्यास 6.5 मीटर है। 
  • इसके प्राइमरी मिरर में बेरिलियम के साथ सोने की लेप का इस्तेमाल किया गया है। 
  • इसके प्राइमरी मिरर का वजन 705 किलोग्राम है। 
  • इस टेलिस्कोप का ऑप्टिकल रिसोल्यूशन ~0.1 आर्क-सेकंड है। 
  • इस टेलिस्कोप का वेवलेंथ कवरेज 0.6 - 28.5 microns होगा। 
  • यह धरती से 1.5 मिलियन किलोमीटर की दूरी की ऑर्बिट, या दूसरे Lagrange point or L2, पर सूर्य की परिक्रमा करेगा। 

Post a Comment

1 Comments

अगर आपको यह पोस्ट पसंद आए तो कृपया यहाँ कमेंट जरूर करें