।। सेना हिंदुस्तान की ।।

खौलता तेज़ाब खून जिनका,

 भुजाएं जिनकी फौलाद है। 

ललकारा आज तक उनको जिसने,

वो हो गया बर्बाद है।।

जिनके त्याग और बाहुबल से,

तिरंगा यूँ आजाद है। 

इन्हीं फौजियों की बदौलत,

हिंदुस्तान का चमन आबाद है।।


सेना हिंदुस्तान की

बारूदी आसान पर ये, 

अपनी धूनी रमाते हैं। 

आग सुलगता इनके दिल में,

जब कोई शरहद पर बुरी नजर लगाते हैं।।

चमकता इनके कपाल पर,

मातृभूमि का प्यार है। 

शरहद की प्रत्येक लड़ाई,

इनके लिए त्यौहार है।।

शत-कोटि प्रणाम इन महारथियों को,

ये हम सबों की शान हैं। 

अजेय हैं ये सारे जहाँ में,

ये भारत माँ की संतान हैं।।

।।जय हिन्द ।।

----------

-----

Post a Comment

0 Comments