जिंदगी जब संघर्ष चलाती है...

जिंदगी जब संघर्ष चलाती है...

जिंदगी जब संघर्ष चलाती है...

इंसानों में तब कई हुनर आ जाती है !

जब तपता है बदन सूरज की तपिश से...

तब शीतलता चाँद की अपने गोद में सुलाती है !

जब होता है निश्चय अटल मानव का... 

तब सफलता उसको गले लगाती है !

जब तपस्या होती है मानव की अविरत...

तब ही ईश्वर की नजरें उसपे जाती है !

पड़ता है चुकाना मोल अनमोल कोई...

तब जाकर खुशियाँ गले लगाती है !

जो भाग गया कठनाई को सम्मुख पाकर...

जागी किस्मत भी अक्सर उसकी सो जाती है !

जो लड़ता है मुश्किलों से बनकर एक योद्धा... 

उसके ही सर पर तिलक विजय की आती है !

जो जाता है हार जीवन के संकट से... 

इतिहास हमेशा कायर उसे बताती है !

जिसने पायी विजय जीवन की बाधाओं पे... 

मिशाल उसी की इस जग में दी जाती है !

जिंदगी जब संघर्ष चलाती है...

इंसानों में तब कई हुनर आ जाती है !

------------------------

------

Post a Comment

0 Comments